fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
National Thoughts
National Thoughts
Breaking News National

दिल्ली : कोरोना महामारी में भी निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए बीएसईएस प्रतिबद्ध

कोरोना वायरस के अप्रत्याशित फैलाव के इस मुश्किल वक्त में डाॅक्टर, नर्स व मेडिकल स्टाफ के अलावा, बीएसईएस भी लगातार, बिना रूके, दिन-रात अपनी सेवाएं दे रही हैं। अधिकतर लोग घर की चारदीवारियों में सिमटे हुए हैं, लेकिन बीएसईएस कर्मी दिल्ली के लाखों परिवारों को निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए, अपने घर से दूर, फील्ड में डटे हुए हैं।

कोरोना महामारी के आउटब्रेक की वजह से स्वास्थ्य सेवाओं, अस्पतालों और मेडिकल उपकरणों पर दबाव बढ़ गया है और ऐसे में, निर्बाध बिजली आपूर्ति और भी ज्यादा महत्वपूर्ण हो गई है। बीएसईएस अस्पतालों, वाॅटर प्लांटों और अन्य आवश्यक सेवाएं मुहैया कराने वाले संस्थानों के अलावा, आम उपभोक्ताओं को भी विश्वसनीय बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने में दिन-रात जुटी हुई है। लेकिन, चूंकि कोरोना वायरस एक कम्युनिटी-डिजीज है, ऐसे में बीएसईएस फील्ड स्टाफ की सुरक्षा भी काफी महत्वपूर्ण हो गई है। राष्ट््रीय राजधानी में उत्पन्न हुई इस स्थिति से मुकाबले के लिए बीएसईएस विभिन्न स्टेकहोल्डरों के संपर्क में है, इस संवेदनशील स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए है।

फील्ड में काम करने वाले अपने कर्मचरियों को बीएसईएस कोरोना वायरस के बारे में निरंतर जागरूक कर रही है और विभिन्न सरकारी अथाॅरिटीज द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन कर रही है। बीएसईएस ने अपने गैर-आवश्यक सेवाओं में कार्य कर रहे कर्मचरियों को वर्क-फ्राॅम-होम की सुविधा दी है, और आवश्यक सेवाओं में कार्य कर रहे कर्मचारियों के लिए एक रोस्टर सिस्टम बनाया है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कम से कम कर्मचरियों को घर से बाहर निकलना पड़े और साथ ही बिजली आपूर्ति पर भी इसका कोई असर न पड़े। बिजली एक आवश्यक सेवा है और खासकर इस मुश्किल दौर में, नियमित बिजली आपूर्ति और भी अधिक महत्वपूर्ण हो गई है।

कोविड-19 को देखते हुए, बीएसईएस ने अपने सभी आॅफिसों में आने वाले कर्मचारियों और अन्य लोगों के शरीर का तापमान लेने के लिए थर्मल चेकिंग करनी शुरू कर दी है। साथ ही, कर्मचारियों के लिए सैनिटाइजर और मास्क, आदि की पर्याप्त व्यवस्था भी की गई है। बीएसईएस के सभी वाहनों और आॅफिसों को नियमित तौर पर सैनिटाइज किया जा रहा है।

बीएसईएस कर्मियों के लिए बिना किसी परेशानी के आवागमन सुनिश्चित करने के लिए बीएसईएस प्रशासन लगातार संबंधित अथाॅरिटीज के संपर्क में है। ऐसे इंतजाम भी किए जा रहे हैं कि आपातकालीन स्थितियां आने पर बीएसईएस के फील्ड स्टाफ के रहने-खाने का इंतजाम भी बीएसईएस की बिल्डिंग्स में ही किया जा सके और वे वहीं रहकर अपने कार्य का संचालन कर सकें।

बीएसईएस के पास कई डाॅक्टर व इन-हाउस डिस्पेंसरीज हैं। कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के इलाज के लिए बीएसईएस के डाॅक्टर हमेशा उपलब्ध हैं। बीएसईएस के डाॅक्टर अन्य अस्पतालों के संपर्क में भी हैं, ताकि आपातकालीन स्थितियांे में जरूरत पड़ने पर प्रभावित कर्मचरियों को तुरंत वहां भेजा जा सके।

कर्मचारियों की सेफ्टी के साथ-साथ उपभोक्ताओं को विश्वसनीय बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने के इस मिशन को कंपनी का सीनियर मैनेजमेंट खुद माॅनिटर कर रहा है और छोटी-से-छोटी चिंताओं व समस्याओं के समाधान के लिए युद्घ स्तर पर कार्य चल रहा है।

कोरोना वायरस की वजह से जो लाॅक-डाउन हुआ है, उसे देखते हुए बीएसईएस आॅफिसों में कम स्टाफ के साथ काम चल रहा है। हम उपभोक्ताओं से अनुरोध करते हैं कि वे सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करते हुए सुरक्षित रहें। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के सरकार के प्रयासों का समर्थन करते हुए, हमने फिलहाल अपनी कुछ सेवाओं में कटौती की है। उपभोक्ताओं से अनुरोध है कि समय की नजाकत को समझते हुए कोविड-19 से लड़ने के प्रयासों को समर्थन दें। उपभोक्ता तमाम डिजिटल माध्यमों जैसे कि बीएसईएस वेबसाइट, मोबाइल ऐप, एसएमएस, वाॅट्सऐप, काॅल सेंटर, आदि से हमसे संपर्क कर रकते है।

Related posts