National Thoughts
Breaking News Crime National

देश की हर तीसरी महिला से फोन पर होती है छेड़खानी : रिपोर्ट

नेशनल थॉट्स डेस्क।  भारत में स्पैम कॉल्स से ढेरों यूजर्स परेशान हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक स्पैम कॉल के मामले में भारत सबसे ज्यादा स्पैम कॉल्स रिसीव करने वाले देशों की लिस्ट में पांचवें नंबर पर है। पहले स्थान पर ब्राजील है। वही, ट्रूकॉलर के सालाना रिपोर्ट की बात करें तो, पिछले साल भारत के हर यूजर को एक महीने में औसतन 22 स्पैम कॉल आते थे। वहीं 2019 में यह आंकड़ा बढ़कर 25 हो गया है। 2019 में भारत में स्पैम कॉल्स 15 प्रतिशत तक बढ़े हैं। करीब 10 प्रतिशत स्पैम कॉल्स फाइनैंशल सर्विस प्रोवाइडर्स की ओर से आते हैं। इस कैटिगरी को पिछले साल रिपोर्ट में शामिल नहीं किया गया था। स्टडी में यह भी सामने आया है कि भारत में हर 3 में से 1 महिला को यौन उत्पीड़न या अनुचित कॉल या एसएमएस आते हैं।

 

ऑपरेटर्स की ओर से सबसे ज्यादा कॉल

टेलिकॉम ऑपरेटर्स भारत में टॉप स्पैमर बने हुए हैं और यूजर्स को ढेरों ऑफर्स और सर्विसेज से जुड़े 67 प्रतिशत से ज्यादा स्पैम कॉल्स आते हैं। बैंक और फाइनैंशल टेक बेस्ड संस्थान भी स्पैमर्स की लिस्ट में शामिल हो गए हैं। ऐसे ऑर्गनाइजेशंस का स्पैम कॉल शेयर 10 प्रतिशत और टेलिमार्केटिंग सर्विसेज का स्पैम कॉल शेयर 17 प्रतिशत है।

 

स्पैम SMS की लिस्ट में भारत 8वें नंबर पर

रिपोर्ट में स्पैम कॉल के अलावा स्पैम मेसेजेस के बढ़ते ट्रेंड का भी जिक्र है। दुनियाभर के जिन 20 देशों में सबसे ज्यादा स्पैम एसएमएस यूजर्स को आते हैं, उनकी लिस्ट भी शेयर की गई है। डेटा के मुताबिक तेजी से बढ़ रहे मार्केट वाले देशों में ज्यादा स्पैम मेसेज यूजर्स को आते हैं। इस लिस्ट में भारत आठवीं पोजीशन पर है, जहां हर यूजर को एक महीने में औसतन 61 स्पैम मेसेज आते हैं। अफ्रीकी महाद्वीप में यूजर्स को सबसे ज्यादा स्पैम एसएमएस भेजे जाते हैं। स्पैम मेसेज वाली लिस्ट में पाकिस्तान भारत से ऊपर छठी पोजीशन पर है।

Related posts