fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
narela
Breaking News City

 नर कंकाल की फैक्ट्री…

नेशनल थॉट्स डेस्क।  नरेला इंडस्ट्रियल एरिया में एक फैक्ट्री में शनिवार देर रात भयंकर आग लग गई थी। फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने आग बुझाने के बाद एक व्यक्ति का शव निकाला। पुलिस का कहना था कि यह शव फैक्ट्री में गार्ड के रूप में तैनात मंगल मंडल का हो सकता है। फैक्ट्री में ठेकेदार का काम कर रहे हरदेव मंडल भी उसी रात से लापता थे। परिवार वाले पहुंचे तो उन्होंने विभाग को बताया भी कि हरदेव फैक्ट्री में ही थे लेकिन प्रशासन ने बिल्डिंग को खतरा बताकर उसे सील कर दिया। परिवार भटकता रहा और उन्हें खोजता रहा। किसी ने परिवार की नहीं सुनी। परिजनों ने मंगलवार को फैक्ट्री के आगे धरना दिया। जिसके बाद प्रशासन ने एक बार फिर से यहां तलाशने का काम शुरू किया और बुधवार शाम से शुरू की तलाश के बाद गुरुवार दोपहर करीब एक बजे हरदेव का शव फैक्ट्री से ही बरामद किया गया। पांच दिन बाद शव मिला और वह बुरी तरह सड़ चुका था।

 

हरदेव के बेटे अशोक ने बताया कि 18 तारीख शनिवार को देर रात फैक्ट्री में आग की सूचना उन्हें आसपास काम करने वाले उनके गांव के दूसरे लोगों ने दी। आखिरी बार उनकी बात अपने पिता से उसी रात करीब 9:00 बजे हुई थी। उन्होंने बताया था कि वह फैक्ट्री में ही अभी मौजूद हैं। अपनों की तलाश में परिजन बिहार से दिल्ली आ पहुंचे। पिता को खोजा लेकिन कहीं कुछ नहीं मिला। बार-बार विभाग को बताया कि पापा भी अंदर हो सकते हैं। लेकिन हमारी एक नहीं सुनी गई। परिवार के ही एक सदस्य घुनेश्वर ने बताया कि प्रशासन अगर समय पर सर्च करती तो हरदेव भी सही समय पर मिल गए होते। रिश्तेदारों ने बताया कि हरदेव और मंगल दोनों ही अपने-अपने परिवार में अकेले ही कमाने वाले व्यक्ति थे, हरदेव पिछले 15 सालों से भी अधिक समय से इसी फैक्ट्री में काम करते थे। हरदेव के चार बच्चे हैं जबकि मंगल के तीन बच्चे हैं।

इस मामले में एसडीएम नरेला, टी.एन. मीना ने बताया कि आग लगने के बाद से ही लगातार से रेस्क्यू और सर्च ऑपरेशन जारी था। फायर ब्रिगेड व अन्य रेस्क्यू टीम लगातार इस घटना के संपर्क में थी। गुरुवार को आखिरकार दूसरे शव की तलाश भी पूरी कर ली गई। उन्होंने परिवार को आर्थिक मदद देने का भी आश्वासन दिया। पुलिस अफसरों ने बताया कि गुरुवार को ग्राउंड फ्लोर पर सामान हटाने के बाद वह एक शख्स का कंकाल मिला। हाथ में एक कड़ा मिला। जिससे हरदेव की पहचान की गई।

Related posts