Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Breaking News City National

निजामुद्दीन : मरकज मामले में मौलाना समेत 6 लोगों पर मामला दर्ज

निजामुद्दीन स्थित मरकज में जहां मार्च में तबलीगी जमात का आयोजन हुआ था उसे आज पूरी तरह खाली करा लिया गया है। खाली कराने के बाद इसे सील कर दिया गया है और इस इलाके में सैनिटाइजेशन का काम चल रहा है। इससे पहले निजामुद्दीन स्थित मरकज में आयोजित इस जलसे में शामिल लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटीन किया जा चुका है।

बिहार के स्वास्थ विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार ने बताया है कि हमें दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से लौटे 81 लोगों की सूची मिली है। इनमें पटना के 17 और बक्सर के 13 लोगों की पहचान की गई है। हमें अन्य लोगों की तलाश है। वहीं बिहार के डीजीपी जी पांडेय ने कहा है कि बिहार के 86 निवासी और 57 विदेशी जिन्होंने दिल्ली मरकज में हिस्सा लिया था, उन पर हम निगरानी रखे हुए हैं। 48 लोगों को पहले ही क्वारंटीन में भेजा जा चुका है। 86 में से कुछ लोग बिहार में नहीं हैं, वह देश के किसी अन्य राज्य में हैं। हम उन राज्यों की पुलिस की मदद से उन लोगों को खोजने की कोशिश कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार तबलीगी जमात का आयोज करने के लिए छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इनके नाम हैं मौलाना साद, डॉ. जीशान, मुफ्ती शहजाद, एम सैफी, यूनुस और मोहम्मद सलमान। मरकज को आज सुबह करीब 3.30 पर खाली कराया गया और यहां से करीब 2100 लोग निकाले गए और पांच दिन में ये जगह खाली कराई गई। पुलिस सूत्रों का ये भी कहना है कि मौलाना साद कहां हैं यह 28 मार्च से ही पता नहीं चल रहा है। उनकी खोजबीन जारी है।

कर्नाटक के शिवमोगा जिला के जिला स्वास्थ्य अधिकारी आर सुरागिहल्ली ने बताया कि 28 मार्च को छह लोग दिल्ली से लौटे हैं। उनकी जानकारी के अनुसार यह लोग निजामुद्दीन के मरकज से लौटे हैं और इन सबको मैकगन जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है।

निजामुद्दीन के आलमी मरकज में 36 घंटे का सघन अभियान चलाकर सुबह चार बजे पूरी बिल्डिंग को खाली करा लिया गया है। इस इमारत में कुल 2361 लोग निकले। इसमें से 617 को अस्पताल में और बाकी को क्वारंटीन केंद्र में भर्ती कराया गया है। करीब 36 घंटे के इस ओपरेशन में मेडिकल स्टाफ, प्रशासन, पुलिस, डीटीसी स्टाफ सबने मिलकर, अपनी जान जोखिम में डालकर काम किया। इन सबको दिल से सलाम।
आज सुबह से ही निजामुद्दीन इलाके को सैनिटाइज किया जा रहा है। वहीं मरकज को पूरी तरह से खाली कराकर सील कर दिया गया है।
पुणे के जिलाधिकारी ने जानकारी दी है कि वहां से 130 लोगों से ज्यादा लोग निजामुद्दीन में आयोजित तबलीगी जमात में शामिल होने गए थे। अभी वो लोग पुणे में हैं या नहीं यह पता नहीं चल पा रहा है। उनकी खोज जारी है।

Related posts