fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
National Thoughts
हनुमान जयंती
Breaking News National

पीएम : लोगों की परेशानी के लिए देशभर की जनता से माफी मांगता हूँ

लाक डाउन के कारण देशवासियों, खासकर गरीब तबके और मजदूरों को हो रही परेशानी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनसे माफी मांगी है। इसके साथ ही उन्होंने यह भरोसा भी जताया कि उनसे नाराज़ लोग स्थिति को देखते हुए उन्हें माफ कर देंगे।वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए 21दिन के देशव्यापी लाक डाउन के कारण लोगों खासकर गरीब तबके और मजदूरों को हो रही परेशानी के कारण उनके पलायन करने की स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित किया।उन्होंने कोरोना वायरस से निपटने के लिए देशभर में लागू किए गए लाक डाउन का बचाव करते हुए कहा कि इसके अलावा उनके पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संकट से लोगों और देश को बचाने के लिए कठोर कदम उठाए गए हैं।

लोगों को परेशानी और असुविधा हो रही।

इसके लिए वह लोगों से क्षमा मांगते हैं।उन्होंने कहा कि बीमारी से शुरू से ही निपटना चाहिए। वैसे भी इलाज से बेहतर बचाव ही होता है।उन्होंने लोगों से लाक डाउन का पूरी तरह से पालन करने की अपील करते हुए कहा कि अगर नियम तोड़ेंगे तो उनका कोरोना वायरस के प्रकोप से बचना मुश्किल होगा। उन्होंने लोगों से लाक डाउन के दौरान धैर्य और संयम बनाए रखने को कहा।उन्होंने कोरोना वायरस के इस संकट की घड़ी में बीमार लोगों के इलाज में दिन रात जुटे डॉक्टर,नर्स, स्वास्थ्य कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों की तारीफ करते हुए कहा कि ये लोग कोऱोना के सामने मोर्चा संभाले हुए हैं। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने आवश्यक सेवाओं और वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखने वाले लोगों वाले छोटे दुकानदारों की सराहना भी की।

 

जीवन व्यतीत मौत के बीच की लड़ाई

कोरोना वायरस लोगों को मारने की जिद ठाने बैठा है। इसे घर में रह कर ही हराया जा सकता है। अगर घर से बाहर निकले तो फिर यह किसी को छोड़ेगा नहीं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि लाक डाउन के दौरान सोशल डिस्टेटिंग बढ़ाने के साथ ही इमोशनल दूरी कम होनी चाहि उन्होंने कहा कि लाक डाउन के दौरान लोगों को बाहर निकलने के बजाय घर के भीतर रह कर अपने भीतर झांकने के साथ ही अपनी यादों को ताजा कर पुराने शौक पूरे करने। चाहिए। उन्होंने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के प्रति भेदभाव करने के बजाय उनसे सहानुभूति से पेश आना चाहिए इसके साथ ही लोगों को गरीब तबके की मदद के लिए भी आगे आना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि योग से कोरोना वायरस से निपटने में मदद मिलेगी।

Related posts