fbpx
National Thoughts
Bol Vyapari Bol Business National Thoughts Special

बोल व्यापारी बोल सरकार अपनी है, बुराड़ी से

नेशनल थॉट्स की खास मुहीम बोल व्यापारी बोल सरकार अपनी है में  उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में व्यापार और व्यापारियों का हाल जानने हमारी टीम पहुँची। ग्रामीण परिवेश को छूने वाला यह मार्केट शहरीकृत गांव में स्थित है बावजूद इसके आज भी यह मार्केट मूलभूत समस्याओं से ग्रस्त दिखा। व्यापारियों ने यहाँ मोदी सरकार के कार्यकाल में व्यापार जगत में सुधार के लिए लागू की गई कई नीतियों को नाकाम बताया। वहीं व्यापारियों ने नोटबंदी और जीएसटी से व्यापार में  होने वाली गिरावट की ओर भी ध्यान दिलाया। आइये सुनते है क्या कुछ कहा बुराड़ी इलाके के व्यापारियों ने।

बुराड़ी इलाके में अपना शोरूम चला रहे पंकज पराशर ने बताया कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में लागू की गई नोटबंदी और जीएसटी जैसी योजनाओं के बाद से व्यापार में लगातार गिरावट देखी गई है। अपने व्यापार के बारे में बताते हुए उन्होनें व्यापार ठप्प होने के चलते अपनी फैक्ट्री बंद होने और गिरते व्यापार के कारण बेरोजगार होते कर्मचारियों का भी जिक्र किया। इसके अलावा पंकज पराशर ने इनकम टैक्स, हाऊस टैक्स, जीएसटी के बाद भी अलग से सर्विस टैक्स वसूलने पर आपत्ति जताई।

 

बुराड़ी मार्केट एसोसिएशन के प्रधान श्रीराम भालेराम पवार ने जहाँ सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली कैबिनेट में चर्चा का हिस्सा रहे पेंशन योजना की प्रशंसा की वहीं बुराड़ी में सिमटते व्यापार और दम तोड़ते बाजार से भी अवगत कराया। उन्होनें सरकार से व्यापार और व्यापारियों के विकास के लिए उचित कदम उठाने की मांग की है जिससे व्यापारी स्वतंत्र रूप से अपना विकास कर सकें।

 

 

 

मार्केट में अपना व्यापार चला रहे राम अवतार बंसल ने कहा कि मोदी सरकार को बनियों की सरकार कहा जाता था, बावजूद इसके मोदी सरकार ने हम व्यापारियों को ही हासिए पर खड़ा कर दिया है। मोदी कार्यकाल में एक के बाद एक लागू की गई नीतियों से व्यापारियों को संभलने तक का मौका नहीं दिया गया। बावजूद इसके केन्द्र और राज्य सरकार तरह-तरह के टैक्स के नाम पर व्यापारियों को बोझ बढ़ाने का काम करती रही है।

 

इसमें कोई दोराए नहीं है कि व्यापार की सुदृढ़ रूप से चलाने के लिए छोटे व्यापारियों की भूमिका को अनदेखा नहीं किया जा सकता। ज़रूरत है सरकार को इस ओर ध्यान आकर्षित कर व्यापारी वर्ग की इन समस्याओं का समाधान करने की। अपने व्यापार और व्यापारियों की समस्याओं को बताने के लिए आप भी नेशनल थॉट्स की खास मुहीम बोल व्यापारी बोल सरकार अपनी है का हिस्सा बन सकते है। हमारे कार्यक्रम से जुड़ने के लिए नेशनल थॉट्स से संपर्क करें।

 

Related posts

Leave a Comment