fbpx
National Thoughts
Business

इंजीनियरिंग कंपनी भेल को 800 करोड़ के दो प्रोजेक्ट

नई दिल्ली || सार्वजनिक क्षेत्र की इंजीनियरिंग कंपनी भेल ने कहा कि उसे 200 मेगावाट क्षमता का सौर ऊर्जा संयंत्र बनाने के लिये 800 करोड़ रुपये के दो ठेके मिले हैं। उसने कहा कि इन दो ठेकों से उसका सौर फोटोवॉल्टिक कारोबार का पोर्टफोलियो 1,000 मेगावाट पर पहुंच गया है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसे ये दो ठेके एनटीपीसी लिमिटेड और गुजरात स्टेट इलेक्ट्रिसिटी कॉरपोरेशन लिमिटेड से मिले हैं। कंपनी ने कहा कि कुल मिलाकर 200 मेगावाट क्षमता का सौर ऊर्जा संयंत्र बनाने के दो ठेके मिलने के बाद कंपनी का सौर फोटोवॉल्टिक पोर्टफोलियो एक गीगावाट (एक हजार मेगावाट) को पार कर गया है। ये दो ठेके आभियांत्रिकी, खरीद और निर्माण (ईपीसी) के आधार पर मिले हैं।

कंपनी ने कहा कि एनटीपीसी का ठेका तेलंगाना के रामागुंडम में स्थित उसके संयंत्र में 100 मेगावाट क्षमता का सबसे बड़ा तैरता संयंत्र बनाने के लिये है। गुजरात स्टेट इलेक्ट्रिसिटी कॉरपोरेशन लिमिटेड का ठेका गुजरात के बनसकांठा जिले में स्थित रघनेसदा अल्ट्रा मेगा सोलर पार्क में जमीन पर स्थित 100 मेगावाट का संयंत्र बनाने के लिये है। कंपनी ने कहा कि एक गीगावाट के सौर ऊर्जा पोर्टफोलियो में से करीब 500 मेगावाट क्षमता के संयंत्र पहले ही तैयार किये जा चुके हैं।

Related posts

Leave a Comment