fbpx
National Thoughts
Rakhi Bazar
Breaking News National

रक्षा बंधन को लेकर बाजार हुआ गुलजार….

नई दिल्ली,  (इरशान सईद)। भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन 15 अगस्त, गुरुवार को उत्साह के साथ मनाया जाएगा। रक्षाबंधन को अब कुछ ही दिन शेष हैं, ऐसे में बाजारों में राखियों का बाजार सज गया है। बाजार में हर वैरायटी की राखी दुकानों में दिखाई दे रही है। इस बार 10 रुपये के कच्चे धागे वाली राखी से लेकर 500 रुपये वाली ऑस्ट्रेलिआई डायमंड की राखी की डिमांड होने लगी है। इसके अलावा जयपुरी राखी, मुबई व कोलकाता की राखी, पैकिंग डोरी व चंदन की डोरी तरह-तरह के डिजाइन में उपलब्ध है।

अटूट रिश्ते का इतिहास : धर्माचार्यो ने कहा कि धार्मिक मान्यता के अनुसार शिशुपाल राजा का वध करते समय भगवान कृष्ण के बाएं हाथ से खून बहने लगा तो द्रोपदी ने तत्काल अपनी साड़ी का पल्लू फाड़कर उनके हाथ की अंगुली पर बांध दिया। कहा जाता है कि तभी से भगवान कृष्ण द्रोपदी को अपनी बहन मानने लगे और सालों के बाद जब पांडवों ने द्रोपदी को जुए में हरा दिया और भरी सभा में जब दुशासन द्रोपदी का चीरहरण करने लगा तो भगवान कृष्ण ने भाई का फर्ज निभाते हुए उसकी लाज बचाई थी। मान्यता है कि तभी से रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाने लगा जो आज भी बदस्तूर जारी है।

Related posts

Leave a Comment