fbpx
National Thoughts
Motivational

सार्थक है जीवन में करो और भरो की नीति…

दोस्तों  दूसरे शब्दों में कहे तो हमारे साथ वैसा ही होता है जैसा हम दूसरों के साथ करते है। ये सब समझाने ले लिए मैं आपको एक कहानी सुनाता हूँ।

एक बार की बात है एक किसान एक आदमी को रोज एक सेर मक्खन बेचा करता था। एक दिन उस आदमी ने मक्खन तोलने की सोची और पाया की मक्खन एक सेर से काम था। ये देखकर उसे बहुत गुस्सा आया और उसने किसान को राजा के सामने पेश कर दिया।

राजा ने किसान से पूछा की उसने कम मक्खन क्यों दिया। किसान ने राजा से कहा, महाराज मैंने मक्खन को तोलकर ही दिया था। मुझे नहीं पता कि वह कम कैसे हो गया।

राजा ने पूछा की तुमने मक्खन को कैसे तोला। किसान ने कहा, महाराज मेरे पास तोलने के लिए कुछ भी नहीं है। बस एक तराजू है। मैं हर रोज इस आदमी से एक सेर ब्रेड खरीदता हूँ।

रोज सुबह जब यह व्यक्ति ब्रेड लता है तो मैं उन ब्रेड को तराजू में रखकर, उन ब्रेड के बराबर ही मक्खन तोलकर इसे दे देता हूँ। अगर इसमें किसी की गलती है तो वह इस व्यक्ति की ही है। अगर आप सजा देना ही चाहते है तो इस व्यक्ति को ही दीजिए।

दोस्तों इस छोटी कहानी से प्रभावपूर्ण  मैं आपको ये समझाना चाहता हूँ की हमें हमारी जिंदगी में वही वापिस मिलता है। जो हम दूसरों को देते है। अगर आप किसी के साथ कुछ गलत लार रहे है तो वो आपके साथ भी होगा। आज नहीं तो कल होगा। कभी भी दूसरों के साथ कुछ गलत मत करो। छोटी  कहानी प्रभावपूर्ण  जिंदगी में हमें वही वापस मिलता है, जो हम दूसरों को देते है।

Related posts

Leave a Comment