पश्चिमी देशों और " />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
10 big business news
Breaking News Top Business News

व्यापार से जुड़ी 10 बड़ी खबरें

  • पश्चिमी देशों और चीन के बीच तनातनी से भारत को फायदा, 25% बढ़ा निर्यात
कोविड-19 महामारी की वजह से अंतरराष्ट्रीय व्यापार में आया बदलाव भारत के पक्ष में झुकता नजर आ रहा है। इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में भारत का निर्यात प्री-कोविड स्तर के पार पहुंच गया। बीती तिमाही देश ने 7,03,545 करोड़ रुपए का निर्यात किया, जो कि 2019 की समान अवधि में हुए 5,62,813 करोड़ की तुलना में 25% अधिक है। पिछले साल के मुकाबले यह 81% ज्यादा है। जबकि इस दौरान आयात (इम्पोर्ट) प्री-कोविड स्तर से सिर्फ 2.88% अधिक हुआ है। चीन से नाराजगी के चलते यूरोप और अमेरिका जैसे देशों ने चाइना+1 नीति के तहत वहां से आयात घटाया है, जबकि वे भारत से आयात बढ़ा रहे हैं।

  • ‘BSE’ने केवल तीन महीने में दिया निवेशकों को 120 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न
पिछले कुछ समय से शेयर बाजार अपने ऑल टाइम हाई पर है और यह एक रेंज में ट्रेड कर रहा है. पिछले तीन महीने में सेंसेक्स में 9.50 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है जबकि सेंसेक्स की पैरेंट कंपनी BSE ने 120 फीसदी का शानदार रिटर्न दिया है | जानकारी के लिए बता दें कि सेंसेक्स की पैरेंट कंपनी BSE यानी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी शेयर बाजार पर लिस्टेड है | BSE केवल NSE पर लिस्टेड कंपनी है | आज BSE Limited के शेयरों पर दबाव दिख रहा है |
 
  • Tatva Chintan IPO: जानिए तत्व चिंतन IPO का ग्रे मार्केट प्रीमियम
तत्व चिंतन के IPO को अपार सफलता मिली है | लोगों ने ये आईपीओ खरीदने में इतनी ज्यादा दिलचस्पी दिखाई कि यह इस साल का दूसरा सबसे ज्यादा भरने वाला IPO बन गया है | तत्व चिंतन फार्मा स्पेशिएलिटी केमिकल बनाने वाली कंपनी है, जो 1996 में स्थापित हुई थी | ये IPO 180 गुना सब्सक्राइब हुआ है | आईपीओ में रिटेल निवेशकों के लिए 35 परसेंट हिस्सा रिजर्व था | जबकि इसके लिए 35 गुना ज्यादा लोगों ने बोलियां लगाई है | 50 फीसदी हिस्सा QIB यानी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए रिजर्व था, जिसके मुकाबले 185 गुना बोलियां मिली हैं |
  • अडाणी ग्रुप ने ब्रांडिंग, Logo करार तोड़ा, शुरू किए बदलाव – AAI कमेटियां
केंद्र द्वारा संचालित भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) की तीन समितियों ने जनवरी में अहमदाबाद, बेंगलुरु और लखनऊ हवाई अड्डे पर अडाणी समूह को ब्रांडिंग और लोगो मानदंडों का उल्लंघन करते हुए पाया। इसके बाद इन तीन हवाई अड्डों का संचालन करने वाली अडाणी समूह की कंपनियों ने ब्रांडिंग और डिस्प्ले में बदलाव करना शुरू कर दिया है, ताकि उन्हें रियायत समझौतों के अनुरूप बनाया जा सके, जिन पर उन्होंने एएआई के साथ हस्ताक्षर किए थे।
 
  • फ्लिपकार्ट, मिंत्रा ने वन संरक्षण के लिए कैनोपी के साथ समझौता किया
ई-कॉमर्स क्षेत्र के फ्लिपकार्ट समूह और फैशन ई-टेलर मिंत्रा ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने पर्यावरण के अनुकूल पैकेजिंग और अन्य सामग्री लेने के लिए गैर-लाभकारी संगठन कैनोपी के साथ साझेदारी की है। एक बयान में कहा गया कि कैनोपी के पैक4गुड (पैकेजिंग) और कैनोपी स्टाइल (फैशन) पहल के तहत फ्लिपकार्ट समूह की दो कंपनियां वन आधारित उत्पादों की जगह वैकल्पिक साधनों को अपनाएं और इसके तहत कच्चे माल के लिए जंगलों पर निर्भरता कम की जाएगी। बयान के मुताबिक, ‘‘फ्लिपकार्ट और मिंत्रा जलवायु स्थिति कायम रखने, जैव विविधता को संरक्षित करने और स्थानीय समुदायों के अधिकारों की रक्षा में दुनिया के जंगलों की भूमिका को पहचानते हैं।
 
  • ‘भारत अभी भी व्यापार के लिए चुनौतीपूर्ण जगह’, अमेरिका ने कही यह बात
अमेरिका ने कहा है कि भारत व्यापार करने के लिए चुनौतीपूर्ण जगह बना हुआ है और निवेश के लिए नौकरशाही संबंधी बाधाओं को कम करके एक आकर्षक और विश्वसनीय निवेश माहौल को बढ़ावा देने की जरूरत है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की जारी एक रिपोर्ट ‘2021 इन्वेस्टमेंट क्लाइमेट स्टेटमेंट्स: इंडिया’ (2021 में कहा है कि भारत व्यापार करने के लिए एक चुनौतीपूर्ण जगह बना हुआ है। इसमें जम्मू-कश्मीर से विशेष संवैधानिक स्थिति को हटाने और नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पारित किए जाने का भी उल्लेख किया गया।

  • 19 फीसदी उछला IDFC का शेयर, जानिए क्या रही वजह
नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी आईडीएफसी के शेयरों में आज बीएसई (BSE) पर कारोबार के दौरान 19 फीसदी की उछाल आई और इसकी कीमत 62.60 रुपये पहुंच गई। यह इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है। कंपनी का कहना है कि आरबीआई ने उसे IDFC First Bank के प्रमोटर के रूप में बाहर होने की अनुमति दे दी है। केंद्रीय बैंक ने 5 साल का लॉक इन पीरियड खत्म होने के बाद कंपनी को यह अनुमति दी है। IDFC की अभी IDFC Financial Holding Company में 100 फीसदी हिस्सेदारी है।

  • ऑडी ने ई-ट्रॉन श्रृंखला की तीन नई इलेक्ट्रिक एसयूवी पेश की, कीमत 99.99 लाख रुपये से शुरू

ऑडी इंडिया ने एक बयान में कहा कि ये इलेक्ट्रिक एसयूवी ई-ट्रॉन 50, ई-ट्रॉन 55 और ई-ट्रॉन स्पोर्टबैक हैं, और इनकी शोरूम कीमत क्रमश: 99.99 लाख रुपये, 1.16 करोड़ रुपये और 1.18 करोड़ रुपये है। इस पेशकश पर ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों ने कहा, ‘‘हम इलेक्ट्रिक गाड़ियों की अपनी यात्रा की शुरुआत करते हुए एक नहीं, बल्कि तीन एसयूवी की पेशकश की है।’’ उन्होंने कहा कि ये तीनों एसयूवी में लक्जरी, शून्य उत्सर्जन, शानदार प्रदर्शन और रोजमर्रा की उपयोगिता का सही मेलजोल है।

 
  • बजाज ऑटो को जून तिमाही में 1,061 करोड़ रुपए का मुनाफा, कंपनी ने बेची 10 लाख से ज्यादा गाड़ियां
ऑटो कंपनी बजाज ऑटो चालू फाइनेंशियल ईयर 2021-22 की पहली तिमाही के नतीजे गुरुवार को जारी कर दिए। कंपनी का स्टैंडलोन प्रॉफिट अप्रैल से जून के दौरान 1,061 करोड़ रुपए हुआ, जो साल भर पहले समान तिमाही में 528 करोड़ रुपए रहा था। यानी सालाना आधार पर कंपनी का प्रॉफिट दोगुना हो गया है। एक्सचेंज फाइलिंग में बजाज ऑटो ने बताया कि उसका जून तिमाही में कंपनी का टर्नओवर 7,715 करोड़ रुपए का रहा, जो मार्च तिमाही में 8,880 करोड़ रुपए और साल भर पहले समान तिमाही में 3,417 करोड़ रुपए रहा था।

  • भारत आई टेस्ला कार:लॉन्चिंग से पहले ही मॉडल 3 की डिलीवरी हुई, 3 सेकेंड में पकड़ लेगी 0 से 100 km/h की रफ्तार
अमेरिका की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी Tesla (टेस्ला) ने साल की शुरुआत में ही भारत में कारों को लाने का ऐलान किया था। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार कंपनी ने बेंगलुरु में टेस्ला की मॉडल-3 कार को डिलीवर कर दिया है। माना जा रहा है कि एलन मस्क की कंपनी भारतीय बाजार में अपनी मॉडल इलेक्ट्रिक कार को सबसे पहले लॉन्च करेगी। टेस्ला मॉडल 3 में सिंगल और डुअल मोटर सेटअप मिलता है। टेस्ला मॉडल 3 का बेस वैरिएंट एक बार फुल चार्ज किए जाने के बाद 423 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकता है। यह कार 6 सेकंड से भी कम समय में 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ सकती है। 

Related posts

Leave a Comment