बंगाल के रण में अमित शाह की रैली में हुआ बवाल, छात्र संगठन और कार्यकर्ताओं में झड़प

0
21
National Thoughts
National Thoughts

कोलकाता || लोकतंत्र चुनाव के छठे चरण के बाद से ही पश्चिम बंगाल की राजनीति में सियासी उठापटक देखने को मिल रही है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के अमित शाह के बीच उठा पटक सुर्खियों का हिस्सा बना हुआ है।  पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान जमकर बवाल हुआ। तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद् और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प और आगजनी के बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई भाजपा कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटें आईं हैं। आरोप है कि वामपंथी और तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद् के कार्यकर्ताओं ने शाह के काफिले पर पथराव किया, जिससे भाजपाई भड़क गए और स्थिति बेकाबू हो गई।

जानकारी के अनुसार जब अमित शाह का काफिला कॉलेज स्ट्रीट पर कलकत्ता विश्वविद्यालय के बाहर से गुजर रहा था तभी भाजपा कार्यकर्ता उनके समर्थन में नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान कुछ वामपंथी और तृणमूल कार्यकर्ता ‘अमित शाह वापस जाओ’ के नारे लगाने लगे और उन्हें काले झंडे दिखाए। शाह के खिलाफ नारेबाजी की गई। कुछ कार्यकर्ता सुरक्षा घेरा तोड़कर काफिले की ओर बढ़ रहे थे तभी भाजपाइयों ने उन्हें रोका तो झड़प हो गई। दोनों गुटों के बीच जमकर मारपीट और आगजनी हुई। काफिले पर पथराव भी किया गया। इससे गुस्साए भाजपा समर्थकों ने कलकत्ता विश्वविद्यालय के छात्रावास के दरवाजे बंद कर दिए और साइकिलों एवं बाइकों को आग के हवाले कर दिया। उन्होंने इमारत पर पथराव भी किया। हालात बेकाबू होते देख पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा

बंगाल में प्रचार-प्रसार के तहत सरगर्मियां उफान पर है। हर सियासी पार्टियां जनता का समर्थन प्राप्त करना चाहती है। पश्चिम बंगाल में वोट ऑफ पर्सेंटेज भी सबसे  ज्यादा है। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि बंगाल के रण में जनता किस पार्टी को अपना समर्थन देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here