बसई दारापुर में हुए हत्या मामले पर क्यों चुप हैं केजरीवाल : भाजपा

0
30
National Thoughts
National Thoughts

नई दिल्ली ||  दिल्ली के मोती नगर के बसई दारापुर में फब्तियां कसने का विरोध करने पर लड़की के पिता (राजू त्यागी) की बेरहमी से पत्थर और चाकू से हमला कर उनकी हत्या कर दी और लड़की के भाई (अनमोल) पर भी जानलेवा हमला किया गया। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश इकाई ने पश्चिमी दिल्ली के बसई दारापुर गांव में छेड़खानी का विरोध करने पर हत्या के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रतिक्रिया नहीं आने पर कड़ा ऐतराज जताया है। प्रदेश भाजपा के नेताओं ने इस मुद्दे पर केजरीवाल की चुप्पी को राजनीतिक करार दिया है। भाजपा नेताओं ने केजरीवाल को घेरते हुए कहा कि देश-विदेश के हर मुद्दे पर ट्वीट करने वाले आप संयोजक दिल्ली में हुई इतनी बड़ी घटना पर अभी तक मौन क्यों हैं। क्या वोटबैंक की राजनीति के चलते केजरीवाल कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। भाजपा ने कहा कि यह साफ दर्शाता है कि आरोपितों का धर्म देखकर ही आप बोलती है। हत्यारों से इतनी हम दर्दी क्यों? यह बेहद शर्मनाक है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि दुखद, बेहद निंदनीय है। एक पिता ने विरोध किया, अपनी बेटी की गरिमा को बनाए रखने के लिए और एक बहादुर बेटे ने अपने परिवार के प्रति अपना कर्तव्य निर्वहन किया। तिवारी ने कहा कि हमारे समाज में ऐसे दरिंदे गुंडों और शहरी नक्सलवाद का कोई स्थान नहीं हैं। हम सभी को एकजुट होकर इसकी कड़ी निंदा करना चाहिए। दिल्ली विधानसभा नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि मैं स्तब्ध हूं कि इस प्रकार की घटना सुनकर। ध्रुव राज त्यागी और उनके बेटे पर हमला करने वालों ने उनकी बेटी को परेशान किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस घटना पर किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया न करना उनकी ओक्षी राजनीतिक की तरफ इशारा करता है कि केजरीवाल किस प्रकार सत्ता के भूख के लिए अंधे हो गए हैं।

वहीं आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि मोहम्मद आलम और जहांगीर खान ने दिल्ली में एक पिता को बीच सड़क पर मार डाला क्योंकि वो अपनी बेटी को छेडखानी से बचाना चाहता था। लड़की के भाई पर भी जानलेवा हमला किया, हालात गंभीर बनी हुई है। दिल्ली में इतना सन्नाटा क्यों हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here