प्रज्ञा ठाकुर की उम्मीदवारी खारिज करने की मांग -चुनाव में जनता सिखाएंगी सबकः शीला

0
53
प्रज्ञा ठाकुर
NATIONAL THOUGHTS

नई दिल्ली,  (वेबवार्ता)। कांग्रेस दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने चुनाव आयोग से भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर की उम्मीदवारी खारिज करने की मांग की है। उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर द्वारा दिए गए बयान पर घोर आपत्ति जताते हुए कहा कि देश में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देश भक्त कहने वाले किसी भी व्यक्ति को संसद तो क्या समाज में रहने का अधिकार प्राप्त नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सबके लिए शर्म की बात है कि साध्वी कहलाने वाली भाजपा नेता द्वारा दिए गए इस प्रकार के घृणित वक्तव्य की किसी भी शीर्ष भाजपा नेता ने आलोचना नहीं करी। शीला दीक्षित ने कहा कि अंहिसा वादी महात्मा गांधी की दिखाई राह पर चलने का आव्हान देने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रज्ञा ठाकुर के बयान से पल्ला झाड़ लिया। उन्होंने कहा कि अब तो साबित हो गया है कि भाजपा की मोदी सरकार ने भारत के स्वतंत्रता सैनानियों और इतिहास पुरुषों का अपमान करने की होड़ का युद्ध छेड़ रखा है। भाजपा एक सोची समझी साजिश और रणनीति के तहत विशेष रूप से कांग्रेस से संबधित शीर्ष महानुभावों की साफ सुथरी छवि को धूमिल करने के प्रयासों में लगी रहती है।दीक्षित ने कहा कि स्वयं मोदी व अमित शाह ने प्रज्ञा ठाकुर का भोपाल से प्रत्याशी के रूप में चयन किया था और प्रज्ञा ठाकुर के हर वक्तव्य और कृत्य की नैतिक जि मेदारी भाजपा के इन्ही दोनों नेताओं की बनती है। होना तो यह चाहिए था कि नाथूराम गोडसे सरीखे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को देशभक्त कहने पर प्रज्ञा ठाकुर का नामांकन स्वयं मोदी अथवा अमित शाह द्वारा वापस लिया जाना चाहिए अन्यथा भाजपा द्वारा देशभक्ति की बात करना केवल एक खोखला नारा ही साबित होता है। शीला दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस पार्टी प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान की कड़े शब्दों में निंदा करती है और देश की जनता से अपील करती है कि ऐसी जहरीली सोच वाले प्रत्याशियों को 19 मई को होने वाले चुनावों में अपने मताधिकार का सही प्रयोग करते हुए कड़ा सबक सिखाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here