बच्ची की हत्या पर गरमाया देश का माहौल, SIT के हवाले मामले की जांच का जिम्मा

0
26

यूपी || अलीगढ़ के टप्पल इलाके में  ढाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या का मामला लगातार गरमाता जा रहा है। हर कोई दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग कर रहा है। इस बीच, यूपी पुलिस ने मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच टीम गठित कर दी है। वहीं, परिवार ने दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की है। बच्ची की मां का कहना है कि कठोर कार्रवाई न होने से दोषियों के इरादे मजबूत होंगे।  पुलिस के मुताबिक बच्ची की हत्या उसके पड़ोसियों ने की थी। दरअसल बच्ची के दादा के साथ उधार के पैसों को लेकर आरोपियों का विवाद चल रहा था। ये मामला पूरे देश की नजर में तब आया जब बच्ची के नाम को लेकर ट्विटर पर एक हैशटेग चलाया गया। 24 घंटों में इस मामले पर 17 हजार से ज्यादा लोगों ने ट्वीट किए गए। ज्यादातर लोगों ने इस मामले में आरोपियों को सख्त सजा देने की मांग की।

उत्तर प्रदेश सरकार ने बच्ची की हत्या के दो आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत मामला दर्ज कर मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित करवाने का फैसला लिया है। सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह निर्णय योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा लिया गया है। लड़की की हत्या के आरोप में दो व्यक्तियों- जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया गया है। जाहिद ने कथित रूप से लड़की को मार डाला, जबकि अन्य आरोपियों ने अपराध करने में उसकी मदद की। आरोपियों ने बच्ची की गला दबाकर हत्या कर शव को कूड़े के ढ़ेर में दबा दिया गया था। जहाँ कुत्तों ने शव को क्षत-विक्षत कर दिया। आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। उनका कहना है कि लड़की के पिता ने जाहिद से 10 हजार रुपये लिए थे, लेकिन रुपये नहीं लौटाए।  जिसके एवज में आरोपियों ने इस वारदात को अंजाम दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here