पश्चिम बंगाल के साथ, दिल्ली और महाराष्ट्र के डॉक्टर्स भी हड़ताल पर

0
10

नई दिल्ली ||  पश्चिम बंगाल से शुरू हुई डॉक्टरों की हड़ताल  महाराष्ट्र और दिल्ली तक आ पहुंची है। हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने एम्स और सफदरजंग में नए मरीजों का रजिस्ट्रेशन बंद कर दिया। इससे दूर-दराज से आए मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। हालांकि पुराने मरीजों के लिए ओपीडी खुली है। हड़ताल के समर्थन में दिल्ली मेडिकल असोसिएशन, आईएमए और डॉक्टरों के अन्य कई संगठन भी आ गए हैं।  इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए)  ने अपनी राज्य शाखाओं से विरोध-प्रदर्शन के अलावा शुक्रवार को काला बैज पहनने को कहा है। आईएमए ने प्रदेश अध्यक्षों और सचिवों से कहा है कि वे जिला कलेक्टरों के दफ्तरों के बाहर शुक्रवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक विरोध-प्रदर्शन करें।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों की हड़ताल का समर्थन किया है। इसको लेकर एम्स दिल्ली में प्रतीकात्मक रूप से विरोध जताया जा रहा है। वहीं 14 जून को एम्स रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (RDA) के जरिए काम का बहिष्कार किए जाने का ऐलान किया है। दरअसल, पश्चिम बंगाल के कोलकाता में डॉक्टर्स के साथ हुई मारपीट के बाद ऐसा कदम उठाया गया है। डॉक्टर्स आज दिल्ली, महाराष्ट्र समेत देशभर में हड़ताल का आह्वान किया है। आईएमए से जुड़े डॉ. हरजीत सिंह भट्टी के मुताबिक एम्स, सफदरजंग के अलावा निजी क्लिनिक-नर्सिंग होम भी बंद रहेंगे। एमसीडी हॉस्पिटल  के डॉक्टर शनिवार से स्ट्राइक पर जाएंगे। महाराष्‍ट्र के रेजिडेंट डॉक्‍टरों ने भी आज शाम 5 बजे तक सांकेतिक हड़ताल का ऐलान किया है। ऐसे में डर है कि देशभर में डॉक्टर इस हड़ताल में शामिल हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here