प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से 26 बालवीरों को किया गया सम्मानित

0
108

 

नई दिल्ली || गणतंत्र दिवस से पहले 26 बच्चों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2019 से नवाजा गया। ये पुरस्कार नवोन्मेष (छह अवार्ड), विद्वता (तीन), समाज सेवा (तीन), कला और संस्कृति (पांच), खेल (छह) और वीरता (तीन) की श्रेणियों में दिए गए। राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में कोविंद ने वीरता के लिए मध्यप्रदेश के कार्तिक कुमार गोयल और कुमारी आदिरिका गोयल को संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से पुरस्कृत किया। इन दोनों बच्चों ने दो अप्रैल 2018 को भारत बंद के दौरान दंगों और पथराव के बीच फंसी रेलगाड़ी छत्तीसगढ एक्सप्रेस के यात्रियों को खाना, पानी और प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध करायी थी। कनार्टक के निखिल दयानंद जितूरी को भी वीरता के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार प्रदान किया गया है। इस अवसर पर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

D Shivanandhan A Real Hero…Read More

नवाचार के क्षेत्र में तमिलनाडु के ए. सूर्यनारायण सेन, कर्नाटक के मोहम्मद सुहैल चिन्या सलीमपाशा, कर्नाटक के ए यू नचिकेत कुमार, ओडिशा के नैसर्गिक लेंका, दिल्ली के माधव लावाकरे और कर्नाटक की कुमारी अरुणिमा सेन को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार दिया गया।  राष्ट्रपति ने समाज सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए उत्तरप्रदेश की कुमारी ईहा दीक्षित, कर्नाटक की कुमारी पर्थयक्ष बी. आर. और पश्चिम बंगाल के आर्यमन लाखोटिया को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार प्रदान किये। शैक्षिक क्षेत्र में राजस्थान की कुमारी मेघा बोस, ओडिशा के आयुष्मान त्रिपाठी और दिल्ली के निशांत धनखड़ को यह पुरस्कार दिया गया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here