कथित धमकी वाले वीडियो का संज्ञान लें जांच एजेंसियां : भाजपा

0
41
National Thoughts
National Thoughts

नई दिल्ली || वाराणसी संसदीय क्षेत्र से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ नामांकन दाखिल करने वाले बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव के एक विवादास्पद वीडियो पर भारतीय जनता पार्टी ने गहरी चिंता व्यक्त कप जॉंच एजेंसियों से मामले पर संज्ञान लेने की बात कहीं है। बता दें कि इस वीडियो में यादव को यह कहते हुए दिखाया गया है कि यदि उसे 50 करोड़ रुपये मिले तो वह मोदी की हत्या करने के लिए तैयार है। अभी यह नहीं कहा जा सकता कि मीडिया में प्रसारित दो साल पुराना यह वीडियो प्रमाणिक है या नहीं। वीडियो में यादव को अपने साथियों से बातचीत करते हुए दिखाया गया है, जो संभवतः दिल्ली पुलिस के सिपाही थे। मीडिया के अनुसार, यादव ने यह स्वीकार किया है कि वीडियो क्लीप में दिखाया गया व्यक्ति वही है लेकिन उसमें वार्तालाप की बातों को गलत ठहराया है। उसने इसे एक साजिश बताया है। भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने इस वीडियो के उजागर होने के बाद सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों से आग्रह किया कि वे इस मामले की जांच करें।

उन्होंने कहा कि वीडियो की बातें स्पष्ट कर देने वाली हैं और सुरक्षा एजेंसियों को प्रधानमंत्री की सुरक्षा को मौजूद खतरे के संबंध में कदम उठाने चाहिए। इस कथित वीडियो में यादव को कहते हुए दिखाया गया है कि यदि उसे 50 करोड़ रुपये मिले तो वह मोदी की हत्या कर सकता है। उसके साथी उसे कहते हैं कि भारत में कोई व्यक्ति उसे इतनी धनराशि नहीं दे सकता। पाकिस्तान 50 करोड़ रुपये दे सकता है। इस पर यादव को कहते दिखाया गया है कि वह देश के प्रति वफादार है पैसा उसके लिए मायने नही रखता। यदि कोई भारतीय व्यक्ति मुझे इतनी धनराशि दे तो ठीक है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि समाजवादी पार्टी(सपा) ने तेज बहादुर यादव को अपना उम्मीदवार बनाया था और कांग्रेस ने ऐसे असमाजिक तत्वों का समर्थन किया था। यह चिंता की बात है। उल्लेखनीय है कि तेज बहादुर यादव का नामांकन पत्र खारिज किया जा चुका है, जिसके खिलाफ उसने सुप्रीम कोर्ट में शरण ली है। यादव ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को वॉक ओवर देने के लिए निर्वाचन अधिकारी ने उसका नामांकन पत्र गलत तरीके से खारिज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here