fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Baba Ram Dev's coronil once again in controversies
Breaking News National

बाबा राम देव का coronil एक बार फिर विवादों मे

पतंजलि के कोरोनिल टैबलेट पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से सर्टिफिकेशन मिलने के झूठे दावे पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आश्चर्य जताया। IMA ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से इस पर स्पष्टीकरण मांगा है, जिनकी मौजूदगी में इस टैबलेट को सर्टिफिकेशन मिलने का दावा किया गया था। पतंजलि ने इस टैबलेट के बारे में दावा किया है कि यह कोरोना संक्रमण के इलाज में कारगर है और यह दावा प्रमाणों पर आधारित है।

गौरतलब है कि WHO ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि उसने COVID-19 के इलाज के लिए किसी पारंपरिक मेडिसिन की प्रभाविकता को प्रमाणिक नहीं किया है। योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने 19 फरवरी 2021 को कहा था कि आयुष मंत्रालय ने WHO की सर्टिफिकेशन योजना के तहत COVID-19 के इलाज में सहायक मेडिसिन के तौर पर कोरोनिल टैबलेट को सर्टिफिकेशन (मान्यता) दिया है।

बाद में पतंजलि के MD आचार्य बालकृष्ण ने एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये स्पष्टीकरण दिया था कि कोरोनिल को WHO GMP कंप्लायंट COPP सर्टिफिकेट केंद्र सरकार के ड्र्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने दिया है। WHO किसी भी मेडिसिन को मान्यता देने का काम नहीं करता है।

Related posts

Leave a Comment