fbpx
National Thoughts
Breaking News State

पीड़ितों से मिलने जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी हिरासत में

लखनऊ || उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में हुए नरसंहार के बाद पीड़ितों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफीले पर प्रशासन ने अंकुश लगाते हुए उन्हें नारायणपुर पुलिस स्टेशन के पास पीड़ित परिजनों से मिलने से रोक दिया गया।  बता दें कि जमीन विवाद में सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या के बाद प्रियंका गांधी पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए वहां जा रही थीं।

पीड़ित परिवारों से मिलने से रोके जाने पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने पुलिस ले रोके जाने की वजह और आदेश की कॉपी मांगी जब उन्हें कोई संतुष्ट जवाब नहीं मिला तो वह नारायणपुर में ही धरने पर बैठ गई। इस दौरान उन्होनें कहा कि ‘हम बस पीड़ित परिवार से मिलना चाहते हैं। मैनें तो यहां तक कहा कि मेरे साथ सिर्फ 4 लोग होंगे। फिर भी प्रशासन हमें वहां जाने नहीं दे रहा है। उन्हें हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है। जबतक हमें पीड़ित परिवार से नहीं मिलने दिया जाएगा हम यहां शांति से बैठे रहेंगे।’

धरने पर बैठी प्रियंका गांधी को पुलिस ने हिरासत में लेते हुए चुनार गेस्ट हाउस ले गई। इस दौरान कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि कहां ले जाया जा रहा है, लेकिन वे जहां ले जाएंगे हम जाने को तैयार हैं। लेकिन झुकेंगे नहीं।’ हालांकि चुनार गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी फिर धरने पर बैठ गईं और कहा कि जब तक उन्हें पीड़ित परिवारों से नहीं मिलने दिया जाता है तब तक वह वापस नहीं जाएंगी। वहीं कांग्रेस ने भी इस पूरी प्रक्रिया की निंदा करते हुए कहा कि यूपी की अजय सिंह बिष्ट सरकार द्वारा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से जबरन रोकना लोकशाही का अपमान है। बगैर लिखित आदेश और संविधान की मूल भावना के विपरीत अजय सिंह बिष्ट सरकार का यह कदम तानाशाही को दर्शाता है।

Related posts

Leave a Comment