fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
indian (1)
Breaking News National

Constitution Day : भारतीय संविधान के 70 साल हुए पुरे, जाने ये खास बातें 

भारत का संविधान, भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है जबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। आपको जानकार हैरानी होगी की भारत का संविधान विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है। समिति ने संविधान का मसौदा हिंदी और अंग्रेजी में हाथ से लिखकर कैलिग्राफ किया था। खास बात यह थी कि इसमें कोई टाइपिंग या प्रिंटिंग शामिल नहीं थी। 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू किया गया था। इसी के साथ समाज को निष्पक्ष न्याय प्रणाली मिली। देश के नागरिकों को मौलिक अधिकारों की आजादी और कर्तव्यों की जिम्मेदारी मिली।

एक नजर संविधान से जुड़ी अहम् बातों पर…

– यह लिखित और विस्तृत है

– मौलिक अधिकार प्रदान किया गया है

– न्यायपालिका की स्वतंत्रता, यात्रा, रहने, भाषण, धर्म, शिक्षा आदि की स्वतंत्रता,

– एकल राष्ट्रीयता,

– भारतीय संविधान लचीला और गैर लचीला दोनों है

– राष्ट्रीय स्तर पर जाति व्यवस्था का उन्मूलन

– समान नागरिक संहिता और आधिकारिक भाषाएं

– केंद्र एक बौद्ध ‘गणराज्य’ के समान है.

– बुद्ध और बौद्ध अनुष्ठान का प्रभाव

– भारतीय संविधान अधिनियम में आने के बाद, भारत में महिलाओं को मतदान का अधिकार मिला है.

– दुनिया भर में विभिन्न देशों ने भारतीय संविधान को अपनाया है। 

क्या है संविधान और इसका इतिहास

सबसे पहले तो आपको सभी को समझाना होगा कि संविधान क्या है और इसे किसने लिखा है। यह कैसे लिखा गया है। इससे जुड़े रोचक इतिहास का भी आप अपने शब्दों में वर्णन कर सकते हैं। संविधान बनाने में जिनलोगों की अहम भूमिका रही है, उनके बारे में संक्षिप्त में बता सकते हैं। संविधान को बनाने के लिए कई लोग जुड़े थे। उनकी कुछ खास बातों का उल्लेख कर सकते हैं।

संविधान सभा के सदस्य

बता दें कि संविधान सभा के सदस्य भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्यों के द्वारा चुने गए थे। जिनमें बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद, जवाहरलाल नेहरू, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे।

साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को किया जाता है याद

भारत में संविधान दिवस प्रति वर्ष 26 नवंबर को सरकारी तौर पर मनाया जाता है। इस दिन संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को याद किया है। जानकारी के लिए आपको यह भी बता दें कि संविधान दिवस को ‘नेशनल लॉ डे’ के नाम से भी जाना जाता है।

Related posts