आज के समय में सोशल मीडिया के जरिए " />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
aaj ki taza khabar, Breaking News in india, current affairs in india, current news in hindi, hindi news update, latest news in india, sarkar ki baat, today current new
Breaking News National

किसी के मौत के बाद भी यूज किया जा सकता है उसका सोशल मीडिया अकाउंट,

आज के समय में सोशल मीडिया के जरिए डिजिटल डेटा की भरमार है। क्या आपने कभी सोचा है कि मृत्यु के बाद इन डिजिटल डेटा का क्या होगा। सोशल मीडिया से लोगों के जुड़ाव से उनमें ऐसी कई स्टोरी होती है जो उनके परिवार से जुड़ी होती हैं। जो एक तरह से फैमिली एलबम का काम करती हैं।

कोरोना वायरस की वजह से लाखों लोगों की जान गई हैं। सवाल ये कि उनके सोशल मीडिया के अकाउंट परिवार वालों को कैसे मिले। साथ ही डिजिटल मीडिया में रखे गए जरूरी डेटा का गलत इस्तेमाल न हो यह भी जरूरी होता है। सोशल मीडिया में सेटिंग की मदद से अपने सोशल मीडिया के अकाउंट किसी को सौंप सकते हैं। इसके लिए सोशल मीडिया कंपनी कई ऑप्शन देती हैं।

मेमोरियल अकाउंट बनाने का ऑप्शन

फेसबुक या इंस्टाग्राम में फॉर्म भरना होता है। इसमें यूजर की मौत की जानकारी देनी होगी। जिससे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूजर्स के प्रोफाइल को मेमोरियल अकाउंट में बदल देते हैं। फेसबुक में यूजर के नाम में रिमेंबरिंग वर्ड जोड़ दिया जाता है। अब यूजर को टाइमलाइन में टैग करने वाली की पोस्ट उसके पेज पर दिखेगी। बर्थडे वाली नोटिफिकेशन भी लोगों के पास नहीं जाएगी। न ही फ्रेंड सजेशन में उनका नाम दिखेगा। वहीं इंस्टाग्राम पर मेमोरियल अकाउंट में बदलने के बाद कोई बदलाव नहीं होता है। लेकिन फेसबुक पर लिगेसी कॉन्टैक्ट का ऑप्शन मिलता है।

Related posts

Leave a Comment