fbpx
National Thoughts
Breaking News National

सुरक्षा के बाद समर्थन सुनिश्चित कर देश में किया ऐतिहासिक बदलाव

जम्मू || भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई ने संविधान के अनुच्छेद 370 पर सरकार के ऐतिहासिक फैसले का स्वागत किया। संविधान का यह अनुच्छेद राज्य को विशेष दर्जा प्रदान करता था। अनुच्छेद 370 को हटाने के लिये गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राज्यसभा में प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य भाजपा अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि अपनी जाति, पंथ और धर्म की परवाह किये बगैर जम्मू कश्मीर के लोग प्रधानमंत्री के साथ हैं। रैना ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लिये यह एक ऐतिहासिक क्षण है… राज्य की समूची जनता उनके दर्द को कम करने के लिये उनकी (मोदी की) शुक्रगुजार रहेगी।

उन्होंने कहा भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार सरदार पटेल के अधूरे काम को पूरा करने का काम कर रही है, जिन्होंने मजबूत भारत की नींव रखने के लिये जम्मू कश्मीर समेत 562 रियासतों के विलय किया था। उन्होंने आरोप लगाया कि देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने नेशनल कांफ्रेंस के संस्थापक शेख मोहम्मद अब्दुल्ला को खुश करने की अपनी नीति के तहत जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने के लिये अनुच्छेद 370 के प्रावधान के निर्माण किया। उन्होंने कहा कि शुरुआत हो चुकी है और इसके तर्कसम्मत निष्कर्ष निकलेंगे।

आज लगभग पूरा देश अस्थाई संविधान की धारा-370 हटाए जाने और मोदी-शाह के द्वारा अपनाई गई रणनीति का शुक्रिया अदा कर रहा है और हो भी क्यों न जम्मू-कश्मीर में पहले वहाँ ने नागरिकों की सुरक्षा व्यवस्था कर शांति का माहौल बनाए रखना और फिर विपक्षियों का समर्थन पाकर अधर में लटके धारा 370 को पास करा कर जम्मू-कश्मीर को भारत से पूरी तरह जोड़ने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को ही जाता है।

Related posts

Leave a Comment