fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
विदेश से कैसे पहुँचे तबलीगी मरकज जमात में सैंकड़ों कोरोना संक्रमित
विदेश से कैसे पहुँचे तबलीगी मरकज जमात में सैंकड़ों कोरोना संक्रमित
Breaking News National

विदेश से कैसे पहुँचे तबलीगी मरकज जमात में सैंकड़ों कोरोना संक्रमित

आखिर इतने पहले से हमारे यहां सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त थी तो तबलिगी  जमात में विदेश से आए  सैकड़ों विदेशी जमातीकैसे एकत्रित हो गए । मोदी जी को किसी ने महान बताया तो किसी ने भगवान की भी उपमा  दी ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने तो हनुमान की संज्ञा देते हुए प्रधानमंत्री को संबोधित किया लेकिन हालत इतना कैसे हुआ ख़राब आगे पढ़े 

जब विदेश से आने वाले सभी लोगों की हवाई अड्डे पर जांच की जा रही थी फिर तबलीगी
मरकज जमात में सैंकड़ों कोरोना संक्रमित कैसे पहुंचे। स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन तो कोरोना
मामले को लेकर राहुल गांधी की खिल्ली उड़ा रहे थे।कोरोना वायरस के मुद्दे पर राष्ट्र को
संबोधित करते हुए मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश में कोरोना के मामले
सामने आने से पहले ही सरकार ने विदेश से आने वाले सभी लोगों की हवाई अड्डे पर जांच करवाने की व्यवस्था कर दी थी।

उनके मुताबिक जिन देशों में कोरोना वायरस का संकमण फैल चुका था वहां से आने वालों को
हवाई अड्डे से सीधे आइसोलेशन सेंटर में भेजने के साथ ही उन्हें वहां 14 दिन तक रखने के बाद
ही घर जाने की इजाजत दी गई थी। मगर यह बात कहते हुए प्रधानमंत्री मोदी दो ख़ास तथ्यों
की अनदेखी कर गए। पहला यह कि जो देश कोरोना वायरस की चपेट में पूरी तरह से आ चुके थे,
वहां फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए उनकी सरकार ने ही विमान भेजे थे और वहां
से आए लोगों की किसी भी प्रकार की जांच नहीं कराई गई थी।

दूसरा यह कि यदि विदेशी नागरिकों की हवाई अड्डे पर जांच कराई जा रही थी। तो फिर भला दिल्ली
में निजामुद्दीन स्थित तबलीगी मरकज में आयोजित जमात में सैंकड़ों की तादाद में कोरोना वायरस से
संक्रमित लोग कैसे पहुंच गए। जिन्हें देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस फैलाने के लिए जिम्मेदार
ठहराया जा रहा है।इतना ही नहीं जब मोदी सरकार जनवरी माह के शुरू में ही कोरोना वायरस से
निपटने की तैयारी में जुट गई थी। फिर सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने 17 मार्च को बकायदा
प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोना वायरस का मुद्दा उठाने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की खिल्ली क्यों उड़ाई थी।

राहुल गांधी ने चीन के वुहान में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ने के साथ ही मोदी सरकार को इससे आगाह
करते हुए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया था। तब मोदी सरकार से लेकर भाजपा नेताओं ने उनका मजाक
उड़ाते हुए उन पर देश में डर का माहौल पैदा करने का आरोप लगाया था। यदि सरकार जनवरी माह से ही सक्रिय
हो गई थी तो फिर देश को अंधेरे में क्यों रखा गया।

Related posts