केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के त" />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Lohri and Makar Sankranti festivals make our culture strong - National President Anil Arya
State

लोहड़ी व मकर संक्रांति पर्व हमारी संस्कृति को मजबूत बनाते हैं -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

 केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में लोहड़ी व मकरसंक्रांति के वैदिक स्वरूप पर गोष्ठि का आयोजन आर्य नेत्री इंदु मेहता की अध्यक्षता में किया गया । यह परिषद का कॅरोना काल में 150 वा वेबिनार था जो जूम पर संपन्न हुआ । केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि ये पर्व हमारी संस्कृति को मजबूत बनाते हैं । नई पीढ़ी को भारतीय संस्कृति के गौरव पूर्ण पक्ष व महत्व को उजागर करते हैं ।
लोहड़ी पर्व भी एक तरह से लवजिहाद से बचाने की दूल्हा भट्टी की प्रेरणा स्पद कहानी है । आज फिर लव जिहाद की समस्या दिखाई दे रही है आज फिर दुल्ला भट्टी प्रासंगिक हो गए हैं । हमें यज्ञ करके शुद्ध घी, हवन सामग्री वेद मंत्रों की आहुति दे कर पवित्रता पूर्वक पर्व को मनाना चाहिए । ऐसी वस्तुए अग्नि में न डाले जिससे वायु प्रदूषण बढे ।
वैदिक विदुषी दर्शनाचार्य  विमलेश बंसल ने कहा शीत शशिर हेमंत का हुआ परम प्राधान्य। तेल तूल, तिल तपन का दान जगत में मान्य। भारत देश व्रत पर्व उत्सवों का देश है , वर्षभर के पर्वों में मकर संक्रांति और लोहड़ी का अपना विशेष महत्त्व है  । सूर्य के दक्षिणायन से उत्तरायण, पितृयान से देवयान की ओर जाने का संदेश देने आया यह पर्व संकेत करता है हम सब यज्ञ-देवपूजा, संगतिकरण व यथा स्थान पात्र देख दान करने वाले बनें, निर्धनों को धन, असहायों को सहायता,अज्ञानियों को ज्ञान, अभावग्रस्तों को धनादि दे खिला कर खाने की त्यागमयी उत्कृष्ट वैदिक संस्कृति और सभ्यता को समृद्ध कर राष्ट्र को मजबूत कर सकते हैं। ईश्वर की भक्ति वेदानुकूल पथ को अपनाते हुए ईश्वरीय जनों की सेवा और समर्पण ही है।
मुख्य अतिथि चंद्र डुडेजा ने यज्ञ के महत्व पर प्रकाश डाला ।प्रांतीय महामंत्री प्रवीन आर्य ने कहा कि लोहड़ी उत्साह व उल्लास का पर्व है इससे समाज में भाई चारा बढ़ता है ।गायिका सुदेश आर्या,दीप्ति सपरा, जनक अरोड़ा, प्रतिभा कटारिया,आशा आर्या, ईश्वर देवी,विजय हंस,वीना वोहरा, आदर्श मेहता,रवीन्द्र गुप्ता, वीरेन्द्र आहूजा,प्रगति डाली आदि ने मधुर गीत सुनाये ।

Related posts

Leave a Comment