अपने यह कहावत तो सुनी" />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Negligence in Unlock 2, third wave will come: WHO
Breaking News National

Unlock 2 में हुई लापरवाही, तो आएगी तीसरी लहर: WHO

अपने यह कहावत तो सुनी ही होगी “सिर मुड़ाते ओले पड़ना” | जी हाँ,अभी देश के कुछ राज्यों में अनलॉक प्रक्रिया की शुरुआत अभी ठीक से भी नहीं हुई थी | उससे पहले ही विश्व स्वस्थ संगठन (WHO) द्वारा भारत को चेतावनी दी गई है | “जल्दबाजी में की जा रही अनलॉक  प्रक्रिया, भारत के लिए घातक साबित हो सकती है” |

 

क्या कह रहा है WHO ?

विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ टेड्रॉस अधानोम गेब्रयासस ने भारत में कोरोना प्रतिबंधो को जल्द हटाने पर चेतावनी दी है | उन्होंने कहा भारत में अभी कोरोना वायरस के ऐसे कई वेरिएंट है,जो अभी-भी सक्रिय है | डेल्टा वेरिएंट सहित अन्य ‘चिंताजनक’ वैरिएंट्स के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कोरोना प्रतिबंध जल्दी हटाना खतरनाक साबित हो सकता है | उन्होंने कहा-जिन लोगों ने वैक्सीन अभी तक नहीं लगवाई हैं, उनके लिए कोरोना प्रतिबंधों में ढील जानलेवा साबित हो सकती है |


WHO क्यूँ कर रहा है सतर्क ?

इसका पहला कारण हो सकता है की कोरोना की दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर की आशंकाएँ जताई जा रही है, जिसमें बच्चों पर इसका खतरनाक प्रभाव पड़ सकता है | दूसरा अनुमानित कारण है की दो महीने तक लॉकडाउन जैसी पाबंदियों की मार से जूझने के बाद, अब भारत में प्रतिबंधों में ढील की शुरुआत की जा चुकी है | कुछ राज्यों में प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं | तो कुछ जगहों पर अब भी प्रतिबंध जारी हैं | इसलिए यह संक्रमण के फैलाव का कारण बन सकता है |

 

क्यूँ दी WHO ने सतर्क रहने की सलाह ?

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इससे पहले अपने बयान मे कहा था कि कोरोना का डेल्टा स्ट्रेन, अब चिंता का विषय बन चुका है | कोरोना का यह स्ट्रेन सबसे पहले भारत में ही पाया गया था | वहीं इस वेरिएंट के दो अन्य स्ट्रेन्स के संबंध में WHO ने कहा कि फिलहाल चिंता की कोई बात नहीं है | वायरस का B.1.617 वैरिएंट को ट्रिपल म्यूटेंट वेरिएंट है, क्योंकि यह तीन लिनीएज (वंश) में बंटा हुआ है | इसलिए इसके फैलने का ज्यादा खतरा है | इसलिए जल्द से जल्द लोगों को वैक्सीन लग जाए तो ठीक है, अनलॉक मे जल्दी ना करें नहीं तो पूरी मेहनत बर्बाद हो सकती है |


AIIMS के डॉक्टर ने दी सजग रहने की सलाह ?

दिल्ली AIIMS के डॉक्टर नवनीत विज जो की मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष और कोविड टास्क फोर्स के चेयरमैन भी है | उन्होंने कहा दिल्ली मे अनलॉक प्रक्रिया जल्दबाजी मे शुरू की गई है, शुरू करने से पहले पूरी तैयारी की जानी चाहिए | मेट्रो का संचालन करने को लेकर डीएमआरसी को अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है, क्योंकि भीड़-भाड़ होने से हालात बिगड़ सकते हैं | ‘हमें तुरंत ही मेट्रो को शुरू नहीं करना चाहिए, बल्कि प्रयोग के तौर पर एक से दो सप्ताह के लिए 33 से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ मेट्रो सेवा की शुरुआत करनी चाहिए |

Related posts

Leave a Comment