#सरकार की बात #फिजूल की बात #होते जो हम सरकार #Real Heroes #जनता की बात #काम की बात #BUSINESS/MSME की बात

Breaking News:
   थायरॉयड एंड थायरॉयड डिसऑर्डर पर होम्योपैथी कॉलेज में सीएमई का आयोजन  ||   चिप डिजाइनिंग में हैं कॅरियर की अपार संभावनाएं  ||   अर्थव्यवस्था को तहस नहस कर पीएम जुमलों और जेटली ब्लॉगिंब में व्यस्त: येचुरी  ||   दृष्टिबाधित मतदाताओं को मिलेगा ब्रेल लिपि युक्त पहचान पत्र   ||   अंग्रेजी हुकूमत को खौफज़दा करने वाले शहीदों का शहीदी दिवस आज  ||   मैं भी चौकीदार कैंपेनिंग चला रही भाजपा पर राहुल का तंज  ||   महिला खिलाडी का शून्य से शिखर तक का सफर  ||   दिल्ली की यमुना की लहरों पर शुरू हुई 29वीं राष्ट्रीय सीनियर कैनो एसप्रिंट प्रतियोगिता  ||   स्वाइन फ्लू से कैसे करें बचाव  ||   बवाना में कैंडल मार्च निकालकर दी गई शहीदों को श्रद्धांजलि   ||   युवाओं को राजनीति में भागीदारी लेने से क्या है फायदा?  ||   काम की बात में जाने संगीत से सफलता की मिसाल   ||

चुनौतियों पर काबू पाने की सीख


बादल अरबी नस्ल का एक शानदार घोड़ा था। वह अभी 1 साल का ही था और रोज अपने पिता – “राजा” के साथ ट्रैक पर जाता था। राजा

घोड़ों की बाधा दौड़ का चैंपियन था और कई सालों से वह अपने मालिक को सर्वश्रेष्ठ घुड़सवार का खिताब दिला रहा था।


एक दिन जब राजा ने बादल को ट्रैक के किनारे उदास खड़े देखा तो बोला, ” क्या हुआ बेटा तुम इस तरह उदास क्यों खड़े हो?”


“कुछ नहीं पिताजी…आज मैंने आपकी तरह उस पहली बाधा को कूदने का प्रयास किया लेकिन मैं मुंह के बल गिर पड़ा…मैं कभी आपकी तरह काबिल नहीं बन पाऊंगा…


राजा बादल की बात समझ गया। अगले दिन सुबह-सुबह वह बादल को लेकर ट्रैक पर आया और एक लकड़ी के लट्ठ की तरफ इशारा करते हुए बोला- ” चलो बादल, ज़रा उसे लट्ठ के ऊपर से कूद कर तो दिखाओ।”


बादला हंसते हुए बोला, “क्या पिताजी, वो तो ज़मीन पे पड़ा है…उसे कूदने में क्या रखा है…मैं तो उन बाधाओं को कूदना चाहता हूँ जिन्हें आप कूदते हैं।”


“मैं जैसा कहता हूँ करो।”, राजा ने लगभग डपटते हुए कहा।


अगले ही क्षण बादल लकड़ी के लट्ठ की और दौड़ा और उसे कूद कर पार कर गया।


शाबाश! ऐसे ही बार-बार कूद कर दिखाओ!”, राजा उसका उत्साह बढाता रहा।


अगले दिन बादल उत्साहित था कि शायद आज उसे बड़ी बाधाओं को कूदने का मौका मिले पर राजा ने फिर उसी लट्ठ को कूदने का निर्देश दिया।

वह रोजाना सुबह बदल को लेकर मैदान में दौड़ लगवाते और जम्प करवाते धीरे-धीरे ज्यादा बड़े -बड़े जम्प करने लग गया। 


करीब 1 हफ्ते ऐसे ही चलता रहा फिर उसके बाद राजा ने बादल से थोड़े और बड़े लट्ठ कूदने की प्रैक्टिस कराई।


इस तरह हर हफ्ते थोड़ा-थोड़ा कर के बादल के कूदने की क्षमता बढती गयी और एक दिन वो भी आ गया जब राजा उसे ट्रैक पर ले गया।


महीनो बाद आज एक बार फिर बादल उसी बाधा के सामने खड़ा था जिस पर पिछली बार वह मुंह के बल गिर पड़ा था… बादल ने दौड़ना शुरू किया… उसके टापों की आवाज़ साफ़ सुनी जा सकती थी… 1…2…3….जम्प….और बादल बाधा के उस पार था।


आज बादल की ख़ुशी का ठिकाना न था…आज उसे अन्दर से विश्वास हो गया कि एक दिन वो भी अपने पिता की तरह चैंपियन घोड़ा बन सकता है और इस विश्वास के बलबूते आगे चल कर बादल भी एक चैंपियन घोड़ा बना।


दोस्तों, बहुत से लोग सिर्फ इसलिए लक्ष्य प्राप्त करते हैं नहीं कर पाते क्योंकि वो एक बड़े चुनौती या बाधा को छोटे-छोटे चुनौतियाँ नहीं कर पाते। इसलिए अगर आप भी अपनी जिंदगी में एक चैंपियन बनना चाहते हैं…एक बड़ा लक्ष्य हासिल करना चाहते हैं तो व्यवस्थित ढंग सेउसे पाने के लिए आगे बढिए… पहले छोटी-छोटी बाधाओं को पार करिए और अंत में उस बड़े लक्ष्य को प्राप्त  कर अपना जीवन सफल बनाइये। 


0 Comments So Far on this Post

Post Comment

Relevant Posts :



#LIFESTYLE
चिप डिजाइनिंग में हैं कॅरियर की अपार ...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
अर्थव्यवस्था को तहस नहस कर पीएम जुमलो...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
दृष्टिबाधित मतदाताओं को मिलेगा ब्रेल ...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
अंग्रेजी हुकूमत को खौफज़दा करने वाले ...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
मैं भी चौकीदार कैंपेनिंग चला रही भाजप...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
रोजगार संकट और अर्थव्यवस्था की बदहाली...

Dated :Mar 23, 2019





#NATIONALNEWS
बैकफुट पर खेल कर मैच नहीं जीत सकती का...

Dated :Mar 23, 2019





#ENTERTAINMENTANDSPORTS
बाक्स आफिस पर केसरी को पहले दिन 21 करोड़

Dated :Mar 22, 2019





#ENTERTAINMENTANDSPORTS
कोहली और धोनी के धुरंधरों के मुकाबले ...

Dated :Mar 22, 2019