देश में कोरोनावायरस से संक्रमि" />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Plasma donors will be easier to find, Snapdeal launches Sanjeevani app
Breaking News National

प्लाज्मा डोनर्स को ढूंढना और भी होगा आसान, स्नैपडील ने लांच किया संजीवनी ऐप

देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों को ठीक करने के लिए प्लाज्मा थेरेपी का भी उपयोग किया जा रहा है | दिल्ली में प्लाज्मा थेरेपी का दौर पिछले साल से ही चल रहा है | इस थेरेपी में वही लोग अपना प्लाज्मा दे सकते हैं जो कोरोना संक्रमित पाए गए थे और ठीक हो गए हैं | ध्यान रखने की है बात है कि संक्रमित होने के 30 दिन बाद आप अपना प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं | विशेषज्ञों द्वारा बताया गया है कि किसी पूर्व संक्रमित मरीज से जो प्लाज्मा लिया जाता है उसमें एंटीबॉडीज बनाने की क्षमता होती है | इसलिए हम उन लोगों का प्लाज्मा लेकर संक्रमित मरीजों को चढ़ाते हैं जिससे उनके शरीर में भी एंटीबॉडीज बनाएं की प्रक्रिया शुरू हो | अब प्रश्न यह उठता है कि अगर आप संक्रमित हैं तो आप प्लाज्मा डोनर का पता कैसे लगा सकते हैं | देश में अभी डर का माहौल बना हुआ है | जो लोग अपना प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं उन्हें यह परेशानी है कि वह दोबारा अस्पताल में जाकर संक्रमित होने का खतरा नहीं लेना चाहते | इसलिए संक्रमित लोगों की मदद के लिए स्नैपडील ने एक संजीवनी ऐप लॉन्च किया है | इस ऐप द्वारा आपको प्लाज्मा डोनर ढूंढनेे में सहायता मिलेगी और आपको परेशानी भी नहीं उठाानी पड़ेगी |
स्नैपडील द्वारा शुरू किए गए ऐप सजीवनी एक ऐसा प्लेटफार्म है जो कोविड-19 रोगियों को प्लाज्मा निर्माताओं के सत्यापित मैचों को खोजने में मदद करता है | लोक डाउन के दौरान ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर खासा एक्टिव रहते हैं | सोशल मीडिया प्लेटफार् द्वारा सभी नागरिक एक-दूसरे से जुड़े रहते हैं, जो एक-दूसरे से संसाधन उपलब्ध रखने में मदद करते हैं जैसे उपलब्ध अस्पताल के बिस्तर, परीक्षण केंद्र संपर्क, ऑक्सीजन आपूर्ति, दवाएं, प्लाज्मा डोनर और बहुत कुछ। सोशल मीडिया एक ऐसा हथियार है जो लोगों को बर्बाद भी कर सकता है और आबाद भी | इसलिए हमने लॉकडाउन के दौरान देखा कि सोशल मीडिया पर कोविड-19 वॉरियर्स या उनकी मदद करने वालों के बारे में जाना | संजीवनी के साथ, स्नैपडील बताता है कि यह संभव प्लाज्मा डोनर्स को ऑनबोर्ड करने के लिए देश भर में अपने मौजूदा ई-कॉमर्स नेटवर्क का उपयोग करने की उम्मीद करता है, और कोविड -19 रोगियों और उनके साथियों को दाताओं के डेटाबेस से जोड़ता है।
स्नैपडील द्वारा बताया गया है कि जब भी कोई मरीज पॉजिटिव पाए जाने की तिथि जैसी सभी आवश्यक जानकारी दर्ज कर सकते हैं के रूप में खुद को पंजीकृत करने के लिए अपने मंच के उपयोगकर्ताओं के लिए एक तरह से की पेशकश करेगा, नवीनतम Covid -19 नकारात्मक रिपोर्ट, रक्त समूह, निवास स्थान वगैरह। एक बार ये विवरण अपलोड हो जाने के बाद, स्नैपडील एक शीट पर जानकारी को सारणीबद्ध करेगा जो उस विशिष्ट क्षेत्र में प्लाज्मा दाताओं की तलाश करने वालों के साथ लंबा हो जाएगा।
फेसबुक, ट्विटर और गूगल जैसे बहुत से लोगों ने अनुरोधों और प्रश्नों के लिए एसओएस हब जैसे संसाधनों की पेशकश की है, जो एक छतरी के नीचे टकराएंगे, और देर से, Google मैप्स जैसे एप्लिकेशन में एकीकृत होते हैं जो रोगी प्रश्नों के उत्तर देते हैं। । इस नोट पर स्नैपडील का लक्ष्य ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के रूप में अपनी स्थिति का उपयोग करना है और अपने आउटरीच का उपयोग करना है, विशेष रूप से भारत के फ्रिंज शहरों और कोनों में, वायरस से जूझ रहे लोगों के लिए संसाधनों की पेशकश करने के लिए।

Related posts