नैशनल थॉट्स ब्यूरो<" />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
PM Modi made aerial survey of West Bengal affected by the storm of Amfan
Breaking News National State

पीएम मोदी ने अम्फान तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल का हवाई सर्वेक्षण किया

नैशनल थॉट्स ब्यूरो :- राज्य को एक हजार करोड़ रुपए की मदद देने का किया ऐलान। पीएम की घोषणा पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बिफरीं ,पश्चिम बंगाल और ओडिशा में आए अम्फान तूफान ने भारी तबाही मचाई है। अकेले पश्चिम बंगाल में ही तूफान के कारण 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और सैंकड़ों घायल हुए हैं। तूफान की वजह से राज्य में सरकारी और निजी संपत्ति का भी भारी नुक़सान हुआ है।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अनुरोध पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान के कारण हुए नुकसान और राज्य की स्थिति का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को तूफान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। इस दौरान राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी उनके साथ थीं।

हवाई दौरा करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कहा कि अम्फान तूफान आने की सूचना मिलने पर केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के साथ मिलकर पश्चिम बंगाल में तमाम ऐहतियाती कदम उठाए थे। लाखों लोगों को समय रहते ही तूफान से प्रभावित होने वाले इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की व्यवस्था की गई थी। बावजूद इसके तूफान की वजह से 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। उन्होंने इन मौतों पर अफसोस जताया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए पश्चिम बंगाल को एक हजार करोड़ रुपए देने का ऐलान किया।

उन्होंने तूफान के कारण मरने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए और गंभीर रूप से घायल होने वाले को पचास हजार रूपए देने का ऐलान भी किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस घोषणा से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बेहद खफा हैं। उनके मुताबिक अम्फान तूफान की वजह से राज्य में एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुक़सान हुआ है। जबकि प्रधानमंत्री ने केवल एक हजार करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। इसके बारे में भी राज्य की निर्वाचित सरकार को कोई जानकारी नहीं दी गई है। यह भी नहीं पता कि यह राशि अनुदान के रूप में दी गई है या यह राज्य को दी जाने वाली अग्रिम राशि है। उनके मुताबिक पश्चिम बंगाल का केंद्र सरकार पर 56 हजार करोड़ रूपया पहले से ही बकाया है।

Related posts

Leave a Comment