fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Real Heroes fighting the battle against Corona: Delhi Laughter Club President Arun Sethi
Breaking News National

कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वाले रियल हीरोज: दिल्ली लाफ्टर क्लब के अध्यक्ष अरुण सेठी

आलोक गौड़ ( सीनियर जर्नलिस्ट)

हमारे देश में फैली कोरोना की महामारी को हराने के लिए समाज के हरेक वर्ग के लोगों ने अपना-अपना योगदान दिया है। केंद्र व राज्य सरकार से लेकर राजनीतिक दल और सामाजिक संगठनों ने अपने अपने स्तर पर कोरोना को हराने का काम किया है। इस सबके बीच दिल्ली लाफ्टर क्लब और खासकर इसके अध्यक्ष अरुण सेठी ने इस दौरान क्लब के सदस्य व उनके परिजनों का मनोबल बढ़ाने के साथ ही जरूरतमंदों तक आक्सीजन कंसंट्रेटर, आवश्यक दवाएं और भोजन मुहैया कराने में जो भूमिका अदा की है। उसने उन्हें एक रियल हीरोज बना दिया है। नेशनल थाट्स अरुण सेठी के काम और जज्बे को दिल से सलाम करता है।

यहां पेश है रजनीकांत तिवारी की अरुण सेठी के साथ की गई बातचीत के विशेष अंश:-
दिल्ली लाफ्टर क्लब विभिन्न पार्कों में अपने सदस्यों के लिए लाफ्टर योगा की क्लासेज संचालित करता है। मगर पिछले साल देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ने और लाक डाउन लागू करने के बाद हमें वो क्लासेज बंद करनी पड़ी। लेकिन अपने सदस्यों और उनके परिजनों का मनोबल बढ़ाने के लिए हमने 21 मार्च 2020 से जूम ऐप्स के जरिए यह क्लासेज जारी रखने का फैसला लिया। मुझे यह बताते हुए काफी खुशी हो रही है कि जूम ऐप्स के माध्यम से न केवल देश के बल्कि विदेशों के लोग भी इन क्लासेज से जुड़ कर इसका लाभ उठा रहे हैं।
अरुण सेठी के मुताबिक कोरोना की पहली लहर के दौरान क्लब ने दिल्ली के नामी-गिरामी अस्पतालों के डाक्टरों के साथ संपर्क कर उन्हें वेबसाईट के जरिए लोगों को कोरोना वायरस के लक्षण और उपचार की जानकारी देने के लिए राजी किया।

इन डाक्टरों ने लगभग चार दर्जन ऐसे कार्यक्रमों के जरिए लोगों की हर तरह की शंकाओं का समाधान करने के साथ ही उन्हें इस बीमारी से लड़ने के लिए प्रेरित किया।अरुण सेठी के मुताबिक इस साल आई कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा घातक है। जिसकी वजह से परिवार के सभी सदस्य संक्रमित हो गए। जिसकी वजह से उनके सामने भोजन बनाने की समस्या भी पैदा हो गई ‌। कोरोना की चपेट में आने की आशंका को देखते हुए दवाइयों की होम डिलीवरी करने वाले कैमिस्ट ने भी अपनी सेवाएं बंद कर दी थीं। इसे देखते हुए दिल्ली लाफ्टर क्लब ने अपने सदस्यों के घर तक भोजन और दवाएं मुहैया कराने का फैसला लिया। यह दोनों सेवाएं सदस्यों और उनके परिजनों को निःशुल्क मुहैया कराई गई। क्लब ने आक्सीजन की कमी को बड़ी संख्या में लोगों के दम तोड़ देने और आक्सीजन सिलेंडर को लेकर मचे हाहाकार को देखते हुए जरूरतमंदों तक आक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे और सदस्यों तक पहुंचाने की व्यवस्था की।

बाद में क्लब के सदस्यों की सलाह पर हमने ये सभी सेवाएं उन लोगों को भी मुहैया कराने का फैसला लिया जो हमारे सदस्य नहीं हैं। दरअसल हम संकट की घड़ी में अपने पड़ोसी को अकेला नहीं छोड़ सकते हैं।अरुण सेठी के मुताबिक क्लब ने कोरोना के पीड़ितों के अलावा कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले फ्रंट लाइन वारियर्स के लिए भी जूम ऐप्स के जरिए लाफ्टर योगा की क्लासेज संचालित की। जिसकी उनमें भाग लेने वाले डॉक्टर, नर्स व अन्य स्वास्थ्यकर्मी ने काफी सराहना की है।इसके अलावा दिल्ली पुलिस की विजीलेंस शाखा के लिए भी लाफ्टर योगा क्लास शुरू की गई थी। हमारा मकसद समाज के हर व्यक्ति को तनावमुक्त होकर खुलकर हंसने के लिए प्रेरित करना है।

 

Related posts

Leave a Comment