fbpx
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
The risk of an outbreak in Swaroop Nagar increased
Breaking News City State

स्वरूप नगर में महामारी फैलने का खतरा बढ़ा

गंदे पानी की निकासी न होने की वजह से नागरिक नारकीय जीवन बिता रहे हैं।कोरोना वायरस से निपटने के लिए लागू किए गए लाक डाउन के कारण यहां लोगों को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर लाक डाउन की आड़ लेकर दिल्ली सरकार और स्थानीय निकाय के अधिकारियों ने विकास संबंधी कार्यों पर रोक लगा दी है। जिसकी वजह से नागरिकों की परेशानियां कई गुना ज्यादा बढ़ गई हैं।

ऐसा ही मामला बादली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले स्वरूप नगर एक्सटेंशन से सामने आया है। इस आवासीय कॉलोनी में गली नंबर एक और दो के बीच नाली व सड़क बनाने का काम शुरू किया गया था। जिसे लाक डाउन लागू होने के बाद से बंद कर दिया गया है। काम बंद हो जाने की वजह से वहां दूषित गंदा पानी भर गया है। जिससे वहां रहने वाले लगभग पचास से अधिक परिवारों के लोगों को नारकीय जीवन बिताना पड़ रहा है।

इतना ही नहीं दूषित गंदे पानी की निकासी न होने की वजह इन परिवारों के लोग मलेरिया और अन्य जलजनित रोगों का शिकार हो रहे हैं। रुका हुआ गंदा पानी जमीन के अंदर रिस कर भूजल को भी प्रदूषित कर रहा है। जिसकी वजह से लोगों के घरों में आने वाला पानी भी दूषित हो गया है। जिसे पीकर लोग पेट संबंधी बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।

यहां रहने वाले अभय कुमार सिंह, महावीर जैन, रामचंद्र पंडित, विजय, विवेक सिंह,राजा शाह, संदीप व मोहम्मद आलम व अन्य अन्य ने बताया कि वह अपनी इस समस्या को लेकर क्षेत्रीय विधायक अजेश यादव से लेकर दिल्ली सरकार और उत्तरी दिल्ली नगर निगम के वरिष्ठ अधिकारियों का दरवाजा खटखटा चुके हैं। मगर किसी के भी कान पर जूं तक नहीं रेंगी। ऐसा लगता है कि मानो वह सभी यहां जलजनित व अन्य रोगों के महामारी का रूप अख्तियार करने का इंतजार कर रहे हैं।

Related posts