Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
This e-cycle can run 1000 km for 50 rupees, is like a phone charge
Breaking News National

50 रुपए में 1000 किमी चल सकती है ये ई-साइकिल, फोन की तरह होती है चार्ज

 
 
पुणे स्थित नेक्सज़ू मोबिलिटी भी एक स्टार्टअप है, जो सस्टेनेबल तरीके से जीने की चाह रखने वाले ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। इस कंपनी को साल 2015 में, अतुल्य मित्तल ने शुरू किया था। पहले इस कंपनी का नाम, अवन मोटर्स था। आज यह स्टार्टअप ई-साइकिलों और ई-स्कूटरों की बिक्री करता है।
इलेक्ट्रिक वाहन चलाने की लागत 0.2 रुपए प्रति किमी है जबकि जीवाश्म-ईंधन वाले वाहन की लागत 1.5 रुपए प्रति किमी है। वह कहते हैं, “10 रुपये की बिजली (प्रति यूनिट अनुमानित मूल्य 8 रूपये) की खपत में चार्ज करने पर, ई-साइकिल 150 किमी और स्कूटर 45 किमी तक चल सकता है। वहीं 50 रुपये के चार्ज पर ई-साइकिल एक हजार किमी तक चल सकती है।”
सबसे जरूरी बात है कि इन्हें कहीं भी चार्ज किया जा सकता है। फोन या लैपटॉप के लिए जो बेसिक सॉकेट इस्तेमाल होते हैं, उनसे भी इन्हें चार्ज किया जा सकता है।
ई-साइकिल की विशेषताएं

  • 31,983 रुपये से 42,317 रुपये के बीच की कीमत वाली ये ई-साइकिलें बाजार मे उपलब्ध हैं | 
  • इलेक्ट्रिक साइकिल में एक 36-वोल्ट, 250-वाट की ब्रशलेस डीसी मोटर और 26-इंच के नायलॉन टायर लगाए गए हैं | ई-साइकिल के दो मॉडल हैं- रोमपस+ और रोडलार्क।
  • दोनों साइकिलों को 750 बार चार्ज किया जा सकता है तथा दोनों को ही पूरी तरह से चार्ज होने में, तीन-चार घंटे का समय लगता है।
  • रोडलार्क एक बार चार्ज होने पर 80 किलोमीटर तक चल सकती है और रोमपस+ 30 किलोमीटर से अधिक चल सकती है।
  • रोडलार्क साइकिल की गति पेडल मोड में 65 किमी और थ्रॉटल मोड में 55 किमी है। वहीं रोमपस+ की गति पेडल मोड में 25 किमी और थ्रॉटल मोड में 20 किमी है।
  • रोडलार्क में दो बैटरियां होती हैं, एक को निकाला और लगाया जा सकता है तो वहीं दूसरी बैटरी एक फ्रेम में ही लगी रहती है।
  • इससे जुड़े बाकी के उपकरण मानक कल-पुर्जों के हिस्से के रूप में आते हैं। इसमें दो मज़बूत मडगार्ड (फ्रंट और रियर), लाइट्स, डुअल डिस्क (फ्रंट और रियर), व्हील रिफ्लेक्टर, रियर रिफ्लेक्टर और हॉर्न शामिल हैं।
  • मोटर और बैटरी की 18 महीनों की वारंटी है।

Related posts