आम तौर पर जो दिखता है वो " />
Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
To express too much in too few words
Breaking News Gaagar Mein Sagar गागर में सागर

गागर में सागर

आम तौर पर जो दिखता है वो होता नहीं 

जो होता है वो दिखता नहीं 

क्योकि इंसान की 

देखने – सुनने – सूंघने – चखने – स्पर्श 

कि शक्ति सीमित है |

इनसे अधिक शक्ति दिमाग की, 

दिमाग से अधिक मन की व 

मन से अधिक शक्ति आत्मा की होती है |

इसलिये दिमाग –मन-आत्मा –द्वारा – जाँच कर 

 ही विश्वास कीजिये, कुछ भी करने का निर्णय लीजिये .

केवल देखने से लक्ष्मण जी ने भरत सरीखे

 भाई को गलत मान लिया था 

और सीता जी ने रावण को साधु मान किया था . 

Related posts

Leave a Comment