Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar
Vocal for local: rural women making straw with coconut leaves
Breaking News

वोकल फॉर लोकल: नारियल के पत्ते से ग्रामीण महिलाएं बना रही स्ट्रॉ

जूस या कोल्ड ड्रिंक पीने के लिए लोग स्ट्रॉ का प्रयोग करते हैं, लेकिन अब यही स्ट्रॉ ग्रामीण महिलाओं को न सिर्फ आत्मनिर्भर बना रहा है बल्कि ये वोकल फॉर लोकल ग्लोबल स्तर की मिसाल बन चुका है। महिलाएं प्लास्टिक की जगह नारियल के पत्ते से इको फ्रेंडली स्ट्रॉ बना रही हैं।

छोटे-छोटे मशीन के जरिए नारियल के सूखे पत्तों को तराश कर स्ट्रॉ बनाना शुरू हुआ । ग्रामीण महिलाओं को इससे रोजगार मिला हैं। मदुरई, कासल गोड़ और टिटकड़ी में मशीन को लगाकर काम शुरू किया। यहां की ग्रामीण महिलाओं को प्रशिक्षण देने के बाद स्ट्रॉ बनाना सिखा दिया और आज उनके पास 25 लाख स्ट्रॉ बनाने का ऑर्डर मिला है।


हर साल एक नारियल का पेड़ अपने स्वाभाविक रूप से अपने 6 पत्ते खो देता है। उन पत्तों को ग्रामीण इलाकों में अधिकांश रूप से जलाया जाता है। लेकिन अब महिलाएं नारियल के पत्ते से इको फ्रेंडली उत्पाद बना रही हैं और महिलाओं को इससे रोजगार भी मिला है, जिससे वे अपना घर चला रही हैं।
साल 2020 में स्टार्टअप लॉन्च पैड में उन्हें अवार्ड भी मिला है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी इस पहल की सराहना भी की गई है। कोविड के बाद बदलते आर्थिक हालात में इस प्रोजेक्ट के जरिए  लोगों को रोजगार देने की योजना बना चुके हैं और हर साल एक हजार ग्रामीण महिलाओं के लिए विशेष रोजगार के अवसर तैयार कर रहे हैं। खास बात ये है कि नारियल से बने ये स्ट्रॉ प्लास्टिक की स्ट्रॉ की जगह ले रहे हैं।

Related posts