fbpx
National Thoughts
Why we celebrate Teacher's Day on 5th of September
Breaking News Business

5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस

नई दिल्ली ||  भारतीय संस्कृति में गुरू का स्थान सर्वश्रेष्ठ है। 5 सितंबर के दिन को बच्चे अपने गुरूओं के सम्मान में स्कूल-कॉलेज में कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करते है। इस दिन बच्चे अध्यापकों की जगह लेकर उन्हें एक दिन का उनकी उपस्थिति में आराम करने का मौका देने के साथ-साथ ही उनकी जिम्मेदारियों को निभाने का भी प्रयास करते है।

एक स्वस्थ और परिपक्व समाज के लिए आज के दिन का विशेष महत्व है। आज जहाँ अध्यापकों को अपने शिष्यों को कर्म के प्रति समर्पित होकर देखने का मौका मिलता है वहीं शिष्य भी एक दिन के लिए ही सही पर शिक्षकों के महत्व को गंभीरता से समझ पाने में समर्थ होते है। अब बात आती है कि 5 सितंबर को ही देश में क्यों शिक्षक दिवस मनाया जाता है।यह दिन देश के दूसरे राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन को समर्पित है।

चूँकि राधाकृष्णन को शिक्षा के प्रति प्रतिबद्ध और समर्पित थे। वे अपने जन्मदिन को अलग से मनाने के बजाए उसे शिक्षकों को समर्पित करते हुए मनाने की बात कही। 1965 से उनके जन्मदिन को शिक्षकों को समर्पित करते हुए मनाया गया जो आज तक जारी है और जारी रहेगा। 1938 में सर्वपल्ली को ब्रिटिश ऐकेडमी का फैलो चुना गया। इसके साथ ही 1954 में उनके योगदान के लिए उन्हें देश का सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार सम्मान भारत रत्न मिला।

Related posts

Leave a Comment